मिठाई की दुकानों में व्यापक तौर पर हरे रंग के रसगुल्लों के आर्डर

कोलकाता। आमतौर पर भारतीय समाज में किसी भी खुशी के अवसर पर मुंह मिठा करने की परम्परा रही है। ऐसे में मुंह मिठा करने के लिये सामने रसगुल्ला हो तो सोने पर सुहागा ही कहा जाएगा।

बंगाल में इन दिनों तृणमूल कांग्रेस की बंपर जीत के कारण जश्न का माहौल देखा जा रह है। मिली जानकारी को सही माने तो निवर्तमान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कालीघाट स्थित आवास से राज्य के तृणमूल नेताओं को मिट्टी के बर्तनों में रसगुल्ले भेजे जा रहे हैं।

लेकिन सबसे खास बात तो यह है कि इन कई दिनों में राज्य के तमाम मिठाई की दुकानों में हरे रंग के रसगुल्ले खूब बिक रहें हैं। तृणमूली अपने चाहने वालों में उक्त हरे रंग की रसगुल्ले बांट रहें हैं। जहां देखों वहीं हरे रंग की रसगुल्लों की मांग है।

महानगर के एक मिठाई बिक्रता संजय ने बताया कि हरे रंग की मिठाईयां व रसगुल्लों की बिक्री व्यापक तौर पर बढ़ गई है। आमतौर पर सफेद रसगुल्ले ही बिकते थें लेकिन दीदी की महाजीत के बाद हरा रसगुल्ला बनाना हमालोगों की मजबूरी है। कारण यही काफी बिक रहा है।

इसी तरह से महानगर के कई मिठाई दुकानों पर बात करने पर पता चला है कि 27 मई के दिन के लिये महानगर में हरे रंग के रसगुल्लों की अग्रिम आर्डर दिये गये हैं और दिये जा रहें हैं। तृणमूल के लोग उक्त रंग की रसगुल्लों का बितरण दीदी के मुख्यमंत्री पद के शपथ लेने के बाद करेगें।  दुकानदारों ने बताया कि पांच व छह रपये के हरे रंग के रसगुल्लों के आर्डर सबसे ज्यादा दिये गये हैं।

 

Spread the love
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares
  •  
    7
    Shares
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •