कोलकाता। बीमार आदमी मानसिक तौर पर भी टूटता रहता है । सबसे बड़ी बात तो यह है कि  भागदौड़ भरी जिंदगी में अक्सर हम अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाते हैं, जिसके कारण कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं और बीमारी का पता चलने तक काफी देर हो चुकी होती है। जिसमें ज्यादातर बीमारियां कम नींद लेने या ठीक ढंग से नहीं सो पाने के कारण होती हैं। जिसको ध्यान में रखते हुए यूपी के दो छात्रों ने ऐसा उपकरण बनाया है, जो आपकी थकान मिटाने के साथ ही बीमारी से पहले आपको सावधान करेगा। दरअसल, विश्व स्तर पर रिसर्च करने से पता चलता है कि करीब 34 फीसदी लोग सोने  से संबंधित बीमारी से ग्रस्त हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के हिसाब से 17.4 फीसदी मौतें सिर्फ सांस की बीमारी के कारण होती हैं और 40 प्रतिशत भारत के लोग 2020 तक हृदय से संबंधित बीमारियों से ग्रस्त हो जायेंगे। अगर इस तरह की गंभीर बीमारियों के बारे में समय रहते पता चल जाता है, तो अकारण मौत के मुंह में जाने से लोगों को बचाया जा सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए एक ऐसे उपकरण का आविष्कार किया गया है, जो सोते समय भी आपके स्वास्थ्य की पूरी निगरानी करेगा और हर बीमारी की आहट को आपके मोबाइल के जरिए आप तक पहुंचाएगा।

आईआईटी खड़गपुर से रिसर्च कर रहे यूपी के जौनपुर निवासी छात्र लक्ष्मीकांत तिवारी और एमटेक कर रहे सत्यपाल गुप्ता ने बताया कि खुशहाल लोग जीवन को बड़ी आसानी से जीते हैं और बीमारियों के प्रभाव से दूर रहते हैं। हम सभी लोग अपने जीवन का एक तिहाई भाग सिर्फ सोने में बिताते हैं और जिन लोगों को रात में ठीक से नींद नहीं आती है, वे लोग पूरे दिन थकावट महसूस करते हैं और कई बार काम करने वाले स्थान पर ही सो जाते हैं। ऐसे में लोग चिड़चिड़े भी हो जाते हैं और समाज में उनका व्यवहार भी सही नहीं रह पाता, ऐसे लोग किसी न किसी प्रकार की सोने से संबंधित बीमारी से ग्रस्त रहते हैं और उनमें से बहुत से लोगों को पता भी नहीं होता है। उन्होंने बताया कि बाजार में आने के बाद इन डिवाइसेस की कीमत 7000 से 8000 रूपए के आस-पास होगी और अगले 6 या 7 महीने में डिवाइस बाजार में आ जायेगी। प्रोफेसर ने बताया कि यह उपकरण दिल से जुड़ी बीमारी को रोकने में मील का पत्थर साबित होगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •