दिन दहाड़े घटना से फुटा भगवा खेमे में गुस्सा

डीसी पोर्ट के कार्यालय के सामने किया हंगामा व प्रदर्शन

कोलकाता। राज्य में भाजपा और संघ कार्यकर्ताओं पर हमले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। महानगर कोलकाता के पोर्ट अंचल स्थित मटियाबुर्ज में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकर्ता बीर बहादूर सिंह (26) को दिन दहाड़े गोली मार दी गयी व घटना को अंजाम देकर बदमाश भाग गये। उक्त घटना के बाद से इलाके में जहां तनाव की स्थिति है वही घटना के खिलाफ भगवा खेमे में गुस्से की लहर है। बीरबहादूर सिंह का इलाज एसएसकेएम अस्पताल में चल रहा है और उनकी स्थिति नाजूक है। आरएसएस कार्यकर्ता बीर बहादुर सिंह के घरवालों ने बताया कि घटना आज सुबह पौने नौ बजे के लगभग मटियाबुर्ज के मस्जिद तालाब के पास तब घटी जब बीरबहादूर पढ़ाने के लिये निकले थे। आरोप है कि दो अज्ञात युवकों ने अचानक ही बीरबहादूर को घेर लिया और फिर बीरबहादूर जमीन पर गिर गये तो उनके पीठ पर ब्लैक प्यांट रेज से गोली मार दी गयी व बदमाश भाग गये। पुलिस का कहना है कि घटना आज 10 बजे दिन में घटी और बदमाश बीर बहादूर को गोली मार कर भाग गये। पुलिस सूत्रों का कहना है कि घटना की जांच की जा रही है गोली क्यों और किसने मारी यह जांच का विषय है। पुलिस घटना में आपसी रंजीश की घटना से भी इंकार नही कर रही है। जबकि बीर बहादूर के घर वालों व आरएसएस के स्थानीय कर्मी आकाश जायसवाल ने आरोप लगाया है कि घटना में तृणमूल के स्थानीय पार्षद रहमत व एक मुन्ना प्रमोटर का हाथ हो सकता है। आकाश जायसवाल ने आरोप लगाया है कि बीर बहादूर संघ का सक्रिय कार्यकर्ता था जिसके कारण ही उसे गोली मारी गयी है। बीर बहादूर मटियाबुर्ज के लीचू बागान स्थित कालीबाबा मैदान इलाके में रहते है। घटना में खबर के लिखे जाने तक किसी की गिरफ्तारी नही हो सकी है। घटना के खिलाफ आज शाम भाजपा नेता राकेश सिंह के नेतृत्व में भाजपा समर्थक व कर्मियों ने डीसी (पोर्ट) के कार्यालय का घेराव करते नारे बाजी की व घटना के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। कहा जा रहा है कि चुनाव के दौरान बीर बहादूर ने पीएम नरेंद्र मोदी को वोट देने की अपील की थी। उनका ‘नमो टीशर्ट’ पहले हुए एक फोटो वायरल हो रहा है। कहा जा रहा है कि भाजपा को समर्थन करने के कारण उन पर गुंडों ने हमला किया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •