कहा, एनआरसी पर लोग बेहद डरे हुए हैं
एनआरसी से नागरिकों को न करें परेशान

जगदीश यादव
कोलकाता। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात गृह मंत्रालय में हुई। इस दौरान उन्होंने पश्चिम बंगाल में एनआरसी के मुद्दे पर गृह मंत्री को एक पत्र सौंपा। मुलाकात के बाद ममता बनर्जी ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह से पश्चिम बंगाल में एनआरसी को लेकर कोई बात नहीं हुई। उन्होंनें गृहमंत्री को एक पत्र सौंपा है जिसमें एनआरसी में छूटे लोगों को एक और मौका देने की अपील की गई है। ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने पश्चिम बंगाल में एनआरसी के बारे में कुछ नहीं कहा। मैंने पहले ही अपना रुख स्पष्ट कर दिया है कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी की जरूरत नहीं है।इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने गृह मंत्रालय पहुंची थीं। गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं पहली बार गृह मंत्री मिली. मेरा अक्सर दिल्ली आना नहीं होता. कल मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिली थी. यह मुलाकात गृह मंत्री के साथ संवैधानिक दुरुपयोग समेत कई मामलों को लेकर हुई.’ ममता बनर्जी ने बताया कि, ‘मैंने उन्हें एक पत्र सौंपा है. मैंने एनआरसी से बाहर किए गए 19 लाख लोगों के बारे में बात भी. इन लोगों में कई बंगाली, गोरखा और हिंदी बोलने वाले लोग भी शामिल हैं. सही नागरिकों को मौका दिया जाना चाहिए. मैं यहां कई मसलों पर चर्चा के लिए आई थी.’ उन्होंने कहा कि एनआरसी से लोग डरे हुए हैं और नागरिकों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए.ममता ने आगे बताया कि गृह मंत्री ने पश्चिम बंगाल में एनआरसी के मामले में कुछ नहीं कहा है. गृह मंत्री ने हमारी सारी बातों को ध्यान से सुना, मुझे लगता है कि वह पॉजिटिव रोल प्ले करेंगे. उन्होंने (शाह) ने भरोसा दिलाया है कि इस मसले पर वह गौर करेंगे.
इससे पहले बुधवार को राजनीतिक अटकलों के बीच 15 महीने के अंतराल के बाद ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करते हुए राज्य में कुछ रुकी हुई परियोजनाओं को पुनर्जीवित करने की अपील की. प्रधानमंत्री के साथ बैठक को अच्छा बताते हुए ममता ने कहा कि राज्य का नाम बदलने से संबंधित उनका एजेंडा सबसे ऊपर है. उन्होंने कहा, “हमने पश्चिम बंगाल का नाम बदलकर बांग्ला करने पर चर्चा की और उन्होंने इसके बारे में कुछ करने का वादा भी किया है.” इसके अलावा बैठक के दौरान रेलवे और खनन से संबंधित रुकी हुई परियोजनाओं व कुछ सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के विनिवेश के संबंध में भी बातचीत की गई. 5ात रहे कि लोकसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर तब तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि वह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता. जब कोलकाता में शाह के रोडशो के दौरान भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच झड़प की घटना घटी थी. इस दौरान ईश्वरचंद विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ और 19वीं सदी के समाज सुधारक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने के आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगे थे। ममता बनर्जी ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता? बता दे कि ममता बनर्जी पीएम मोदी व गृहमंत्री शाह से ऐसे वक्त पर मिली है जब सीबीआई कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ हथौड़ा चला रही है.दरअसल, शारदा चिटफंड मामले में कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का पता लगाने के लिए सीबीआई ने एक विशेष टीम का गठन किया है. साथ ही उनका पता लगाने के लिए सीबीआई कई जगहों पर छापेमारी भी कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, राजीव कुमार को तीन बार समन भेजा गया है. वो अब तक हाजिर नहीं हुए हैं.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •