देश के दिग्गजों का एक मंच से मोदी पर हमला

सीएम ममता ने कहा, मोदी की एक्‍सपायरी डेट आ गयी

विपदा में देश को बंगाल ने दिखाया मार्ग

महामंच से दिखा दीदी का ज्वलंत जलवा

जगदीश यादव
कोलकाता। महानगर कोलकाता में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक महा रैली के जरीये आज यह साबित कर दिया कि देश के पीएम नरेन्द्र मोदी उन्हें एक झटके से खारिज नही कर सकते है। आज ब्रिगेड परेड मैदान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ आयोजित कम से कम 20 विपक्षी दलों की रैली कर ममता बनर्जी ने एक बार फिर अबना जलवा दिखाते हुए कई मामलों में इस रैली को ऐतिहासिक भी बना दिया। कुल मिलाकर इस महा रैली में दीदी के दावे के अनुसार ही जनतंत्र का महा सैलाब उमड़ा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी निर्धारित समय से लगभग एक घंटा पहले कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गईं थी। उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा, नरेंद्र मोदी की एक्‍सपायरी डेट आ गयी है। ममता बनर्जी ने जोरदार आवाज में कहा, जब भी विपदा आयी, बंगाल ने रास्ता दिखाया है। हम एक साथ मिलकर काम करेंगे। उन्‍होंने ‘जागो बंगाल, जागो देश जागो’ का नारा दिया।  ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा, मौसम बदलता है, तो भाजपा की सरकार क्यों नहीं बदलेगी। देश में दो करोड़ से अधिक बेरोजगार हैं, नौकरी नहीं है। ममता बनर्जी ने गरीब सवर्णों को 10  प्रतिशत आरक्षण देने के फैसले पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा, आरक्षण केवल धोखा है। उन्‍होंने बंगाल में भाजपा की रथ यात्रा पर बड़ा हमला किया और कहा, बंगाल में रथयात्रा के नाम पर दंगा फसाद करने नहीं देंगे। ममता ने कहा, बांग्लादेश विजय का विजय उत्सव हुआ था ब्रिगेड में। जयप्रकाश नारायण की रैली पटना में हुई थी। अटल जी व ज्योति बाबू ने ब्रिगेड में सभा की थी. उसी तरह देश के लोगों को न्याय देने के लिए यह सभा हुई है। आज देश के लिए सभी को एक साथ आना होगा, जिधर जो मजबूत हो, उसे सपोर्ट देना होगा।  कलेक्टिव लीडरशिप महत्वपूर्ण है। हमारे गंठबंधन में सभी नेता हैं तथा सभी वर्कर है। सभी राजा और सभी प्रजा है। प्रधानमंत्री कौन होगा यह सोचने का समय नहीं है। चुनाव के बाद इसका निर्णय होगा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, बंगाल और बिहार में भाजपा को इस बार जीरो मिलेगा। यूपी, जम्मू कश्मीर में भी भाजपा को वोट नहीं मिलेगा।  जनता तैयार है, भाजपा कुछ भी कर ले, लेकिन अब भाजपा के अच्छे दिन नहीं आने वाले हैं और कभी नहीं आयेगा। उन्‍होंने कहा, देश को एक रखना, किसान को अच्छा रखना है, हर धर्म को साथ में रखना है, तो भाजपा को एक भी वोट नहीं दें।  देश का अगला प्रधानमंत्री कौन बनेगा, जरूरी बात नहीं है, जरूरी है भाजपा का जाना. उन्‍होंने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा, भाजपा जहां सभा करेगी, अगले दिन तृणमूल की सभा होगी. 23 पार्टी भाजपा के खिलाफ हैं और जो भाजपा के साथ हैं वो भी हमारे साथ आयें। रैली में ममता बनर्जी ने  ‘बदल दो, बदल दो, दिल्ली की सरकार बदल दो’ का नारा दिया। ममता बनर्जी ने दावा किया कि राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज और नितिन गडकरी को भाजपा में नजरअंदाज किया गया, अगर पार्टी लोकसभा चुनाव जीतती है तो उन्हें फिर से नजरअंदाज किया जायेगा। ममता बनर्जी ने मंच से मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि मोदी सरकार ने सीबीआई के सम्मान को खत्म कर दिया। सीबीआई में अफसर खराब नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमारे गठबंधन में सभी नेता हैं। अब बीजेपी के अच्छे दिन नहीं आने वाले हैं। दिल्ली की सभी सीटों पर बीजेपी की हार होगी। अगर बीजेपी देश में दोबारा आता है तो देश का नुकसान होगा। सबसे बड़ा बात यह रही कि  इस महा रैली में पूर्व पीएम देवगौड़ा, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, शरद यादव, शत्रुध्न सिन्हा, बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, राकांपा नेता शरद पवार, रालोद नेता चौधरी अजीत सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, दलित नेता जिग्नेश मेवाणी आदी ने मोदी सरकार पर हमला बोला। बहरहाल रैली में में लाखों की संख्या में उत्साही कार्यकर्ताओं और समर्थकों की भीड़ उमड़ी। उत्साह का आलम यह है कि एक शख्स जो चल-फिर नहीं सकता, वह भी रैली में पहुंचा है। वह व्हील चेयर पर बैठा नजर आया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को देखकर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच, उत्साही लोगों ने झंडे लहराए। लोग पार्टी के चुनाव चिह्न् वाली टोपी और कपड़ों में नजर आए।अधिकांश लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के विरोध में नारेबाजी कर रहे थे।  ममता को शुभकामनाएं देने के लिए प्लैकार्ड ग्रीटिंग लिए कमालुद्दीन खान व्हीलचेयर पर पहुंचे।मुर्शिदाबाद जिले के रहने वाले तृणमूल सुप्रीमो के समर्थक आतिश चंद्र बागड़ी ने कहा, “हम दीदी को सुनना चाहते हैं।” उन्होंने खुद को अपनी पार्टी के रंग में रंग रखा था। कूचबिहार जिले के अमजद हुसैन जैसे कुछ लोग पार्टी के चुनाव चिह्न् के प्रिंट वाले पहनावे पहने नजर आए। तृणमूल कांग्रेस के लहराते झंडों के बीच मुख्य मंच के पीछे से आवाज आ रही थी- “हम एक प्रगतिशील, मजबूत और एकजुट भारत के निर्माण का संकल्प लें।”
Spread the love
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares
  •  
    6
    Shares
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •