रात-दिन की शूटिंग से थकी परिणीति चोपड़ा

  कोलकाता। क्या आपको लगता है कि सिर्फ वही लोग थकते हैं जो हाड़तोड़ने वाली मेहनत करते हैं। वह लोग भी थक जाते हं जो रात-दिन फिल्मो का शूटिंग करते हैं। परिणीति चोपड़ा भी थक गई है। वह इन दिनों दिन रात काम क...

सूर्यदेव के खिलाफ थाने में की शिकायत

गर्मी से परेशान था शिवपाल   शाजापुर/रायपुर। आकाश से आग उगलने का दौर जारी है। मध्य प्रदेश में गर्मी से लोगों के छक्के छुट रहे हैं। ऐसे में एक आदमी को   भगवान सूर्यदेव के ऊपर इतना गुस्सा आया कि पुलिस थाने में सू...

खबरों में रहने का फंडा है महापुरुषों को कोसने का चलन

योगेन्द्र सिंह परिहार पिछले एक-दो वर्ष से देश में अजीबों-गरीब वातावरण बनाने का प्रयास हो रहा है और कुछ तथाकथित बॉलीवुड कलाकार इतिहास को झुठलाकर अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं. यदि कोई कलाकार नाच गाकर करोड़ों रुपये ...

बिग बी के पांच लाख उड़ाने वालें गिरफ्तार

जामताड़ा।  ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो किसी को भी चूना लगा दें। जी हां, बिग बी यानी अमिताभ बच्चन के बैंक अकाउंट से 5 लाख रुपए उड़ाने का दावा करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन आरोपियों को मंगलवार को...

​जय-वीरू का ये कैसा वनवास…!!

तारकेश कुमार ओझा   सत्तर के दशक की सुपरहिट फिल्म शोले आज भी यदि किसी चैनल पर दिखाई जाती है तो इसके प्रति दर्शकों का रुझान देख मुझे बड़ी हैरत होती है। क्योंकि उस समय के गवाह रहे लोगों का इस फिल्म की ओर झुकाव...

 कान्स में 47 वें अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म समारोह के पोस्टर का अनावरण

नई दिल्ली।  सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि सरकार द्वारा स्थापित फिल्म सुविधा केन्द्र कार्यालय (एफएफओ) फिल्म निर्माताओं को एकल खिड़की मंजूरी देने, भारत को एक फिल्म बनाने के ...

परिणीती चोपड़ा की नई फिल्म की महानगर में शूटिंग शुरु

कोलकाता। महानगर कोलकाता में फिर एक हिन्दी फिल्म की शूटिंग शुरु हुई। इस फिल्म की नायिका बॉलीवुड एक्‍ट्रेस परिणीति चोपड़ा हैं। उन्‍होंने अपनी आने वाली फिल्‍म 'मेरी प्‍यारी बिंदू’ । परिणीती ने शूटिंग कोलकाता मे...

इक जग – दुनिया बहुतेरे…!!

तारकेश कुमार ओझा छात्र जीवन में दूसरी , तीसरी और चौथी दुनिया की बातें सुन मुझे बड़ा आश्चर्य होता था। क्योंकि अपनी समझ से तो दुनिया एक ही है। फिर यह दूसरी - तीसरी और चौथी दुनिया की बात का क्या मतलब। लेकिन बात...

चने के पेड़ पे…!!

तारकेश कुमार ओझा  दुनिया  में कई चीजें दिखाई पहले पड़ती है , लेकिन समझ बाद में आती है। बचपन में गांव जाने पर चने के पेड़ तो खूब देखे। लेकिन इस पर चढ़ने या चढ़ाने का मतलब बड़ी देर से समझ आया।इसी तरह हेलीकाप्...