तापसी के पिता की जमानत जब्त
बैनर जलाने पर चुंचुड़ा में पथावरोध

जाकीर अली

हुगली। पंचायत चुनाव में तृणमूल ने ग्राम पंचायतों की 80 फीसद और पंचायत समितियों की 90 फीसद, जबकि जिला परिषद की सत प्रतिशत सीटें जीतने में कामयाब रही है। भाजपा ने वाममोर्चा और कांग्रेस को पछाड़ दूसरे स्थान पर पहुंच गई है और मुख्य विपक्षी दल के रूप में उभरी है। वहीं वाममोर्चा और कांग्रेस चुनाव जीतने में हाशिए पर पहुंच गई हैं। इनमें से कुछ सीटें ऐसी है, जहां निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है।ठीक इसी तर्ज पर सत्तारुढ पार्टी तृणमूल ने हुगली जिले पर भी अपना परचम लहराया है। हुगली में जिला परिषद पर तृणमूल का ही कब्जा रहा। जिला परिषद से तृणमूल के निशेष घोष ने 25,252 वोंटों से जीत दर्ज की है। अपने घर में मीडिया कर्मियों के साथ बातचीत में निशेष घोष ने कहा कि राज्य की सीएम व मंत्री तपन दासगुप्ता के बताये हुए मार्ग पर मां माटी व मानुष की जीत हुई है और व जन जन के लिये काम करेगें। वहीं हुगली जिला स्थित मयनाडांगा ग्राम पंचायत के 143 नंबर बूथ के तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी शुभंकर हालदार के समर्थकों ने आज सुबह चुंचुड़ा स्टेशन रोड पर जाम लगाया, जिसके कारण सड़क पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई एवं नित्य यात्रियों को काफी दिक्कतोंं का सामना करना पड़ा| प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि शुभंकर सरकार के समर्थन में इलाके में लगाये गये बैनरों को गुरुवार देर रात अज्ञात लोगों ने फाड़ कर आग लगा दी। इसी के विरोध में उन्होंने पथावरोध किया था| बाद में पुलिस द्वारा दोषियों का पता लगाकर उनपर कड़ी कार्रवाई के आश्वासन के बाद अवरोध हटा। जबकि इधर पार्टी के निर्देश की अवहेलना कर निर्दल प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने का फैसला सिंगूर आन्दोलन में शहीद तापसी के पिता मनोरंजन मल्लिक ने किया था। वह जिला परिषद में निर्दल प्रत्याशी के रूप में मोटर गाड़ी चिह्न से खड़े हुए थे। उन्हें कुल 1234 वोट मिले जबकि तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी को 32890 मत, भाजपा को 13417 मत मिले। इस दौरान मनोरंजन मल्लिक की जमानत जब्त हो गई। बताया जा रहा है कि तृणमूल के जिला पर्यवेक्षक अरूप विश्वास, पार्टी के नेता तपन दासगुप्ता, असीमा पात्र और प्रवीर घोषाल, सभी ने मनोरंजन मल्लिक को नामांकन वापस लेने की सलाह दी थी। आज दोपहर मनोरंजन अपनी हार की खबर सुनकर वह मतगणना केन्द्र छोड़कर लौट गए। उस केन्द्र की विजयी प्रत्याशी पूर्णिमा घोष मल्लिक ने कहा कि पार्टी पहले है, प्रत्याशी बाद में। इस नतीजे ने यह साबित कर दिया है। जनता पार्टी को पहचानती है, मुझे नहीं।

Spread the love
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares
  •  
    10
    Shares
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •