पं.बंगाल की पुलिस ने पीड़िता को बचाया

 कोलकाता। नौकरी दिलाने के बहाने लाई गई राज्य की एक किशोरी को उसकी ही सहेली ने अपने पति के साथ मिलकर 50 हजार रुपये में बेच दिया। आरोप है कि बंगाल की निवासी इस किशोरी की मंदिर में शादी करवा दी गई। तथाकथित पति का छोटा भाई भी उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। किसी तरह मौका पाकर किशोरी ने परिवार वालों को फोन पर पूरी कहानी सुनाई। पीड़िता के परिवार वालों के साथ आई पश्चिम बंगाल पुलिस ने किशोरी को मुक्त कराते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और अपने साथ ले गई।
 पश्चिम बंगाल की पुलिस टीम उत्तर प्रदेश के टूंडला थाने पहुंची और स्थानीय पुलिस को मामले की जानकारी दी। इंस्पेक्टर भानुप्रताप ¨सह को बताया कि उनके क्षेत्र की एक किशोरी एक माह से लापता है। उसने फोन पर बताया है कि नगला हरिश्चंद्र में उसे बेच दिया गया है। देर रात पुलिस की संयुक्त टीम ने दबिश देकर किशोरी को बरामद करते हुए एक युवक को हिरासत में ले लिया। किशोरी ने पुलिस को बताया कि उसकी सहेली बबली पत्नी रामनिवास की ससुराल जलेसर (एटा) के गांव रसीदपुर में है। वह उसे नौकरी दिलाने के बहाने करीब एक माह पूर्व टूंडला ले आई। उसने नगला हरिश्चन्द्र निवासी बबलू से 50 हजार रुपये लेकर जबरन उसकी शादी करा दी। जबरन बबलू और उसके भाई शैलेन्द्र ने उसके साथ बुरा काम किया। थाना प्रभारी भानुप्रताप ¨सह ने बताया कि किशोरी को 50 हजार में बेचे जाने के मामले में आरोपी शैलेन्द्र को गिरफ्तार किया गया है। घटना में शामिल बबली, बबलू व रामनिवास अभी फरार हैं।
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •