गीदड़ भभकियों से बेखौंफ कोलकाता की चाल रही मस्त

जगदीश यादव

कोलकाता। देश की सांस्कृतिक राजधानी के तौर पर देश दुनियां में प्रसिद्ध महानगर कोलकाता को वर्ष 2016 में साल भर धमाकों से उडाने की धमकियां मिलती रही। वहीं इन तमाम धमकियों से बेखौंफ महानगर अपनी वहीं मतवाली और मस्ती भरी चाल में रहा। सच कहें तो महानगर कभी भी इन धमकियों से खौंफजदां नहीं हुआ। यहीं तो हैं काली माता की नगरी की जिन्दादिली। इसी वर्ष शायद 9 दिसम्बर को कोलकाता का प्रवेश द्वार के तौर पर देश-दुनिया में प्रसिद्ध हावडा़ स्टेशन को बम से उड़ाने धमकी एक कुख्यात आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा दी गई थी।बताया गया था कि पूर्व रेलवें के मुख्यालय फेयरली प्लेस में एक चिट्ठी भेजकर उक्त आशय की धमकी दी गई । चिट्ठी में कहा गया है कि अगर उनके मांगों को नहीं माना गया तो सिर्फ हावड़ा ही नहीं कई रलवें स्टेशनों को धमाकों में उड़़ा दिया जाएगा। 

29 सितम्बर को महानगर कोलकाता में सीरियल तौर पर धमाके करने की धमकी एक बार फिर दी गई। कोलकाता पुलिस ने उक्त धमकी देने वालों दो युवकों को गिरफ्तार भी कर लिया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किये गये दोनों युवक इंटाली के मोतीझील इलाके के निवासी हैं। पुलिस की माने तो दोनों युवको ने कोलकाता पुलिस मुख्यालय लालबाजर में 100 न. पर फोन कर धमकी दी कि अगर पाकिस्तान में भारत फिर से हमले करता है तो परिणाम बूरा होगा। महानगर कोलकाता को सीरियल विस्फोट के जरीये उड़ा दिया जाएगा।

बता दें कि सितम्बर माह में ही दमदम स्थित में नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को उड़ा देने की धमकी दी गई थी। जिसके कारण  हवाई अड्डे की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता कर दिया गया था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि  यह कदम लालबाजार पुलिस मुख्यालय में आए एक धमकीभरे फोन के बाद उठाया गया।

इसी तरह  9 सितम्बर को एक बार फिर राज्य सचिवालय नवान्न को बम से उड़ा देने की धमकी दी गई। उक्त धमकी नवान कंट्रोल रुम में फोन कर आज सुबह नौ बजे दी गई गई जिसके कारण हड़कंप मचा। फोन कर बताया गया था कि दोपहर दो बजे के मध्य ही बम से नवान्न को उड़ा दिया जाएगा। उक्त धमकी के मद्देनजर तुरंत ही पुलिस ही नहीं बरन बम निरोधक दस्ता भी सक्रिय हो गया और नवान्न में जबरदस्त तलाशी अभियान चलाया गया। मंत्रियों के कक्षों को खाली करवाया गया और कोन-कोने  की तलाशी ली गई। तलाशी में स्नीफर डॉग की भी सहायता ली गई ।वनान्न में तलाशी के दौरान कुछ भी नहीं मिला ।

राज्य सचिवालय नवान्न यानी जहां से राज्य का राजकाज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चलाती हैं उसी नवान्न में बम होने का अफवाह फैलाने वाले को पुलिस ने 4 जुलाई को कालीघाट से गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार का नाम अनिरुद्ध घोष (52) है। पुलिस ने बताया कि अनिरुद्ध घोष का मोबाइल फोन भी जब्त किया गया ।  एक दिन पहले उक्त व्यक्ति ने पुलिस को फोन कर बताया था कि वनान्न में बम रका गया है। उख्त सूचना पर पुलिस के हाथ पांव फूल गये थें व बम निरोधक दस्ते से लेकर तमाम एजेंसियों ने राज्य सचिवालय नवान्न में बम तलाश किया लेकिन कुछ नहीं मिला।  हलांकि यह बात दिगर है कि आज खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उक्त व्यक्ति पर अपनी ममता दिखाते हुए विधानसभा में कहा कि बम की अफवाह फैलाने वाला अनिरुद्ध घोष मानसिक तौर पर बीमार ग्रस्त है।

फोटो- पुषन चक्रवर्ती

ज्ञात हो कि पहली बार ऐसा नहीं हुआ है जब नवान्न में बम की अफवाह फैलाई गई हो इस तरह की कई घटनाएं घट चुकी हैं। सनद रहे कि बिते 4 फरवरी को फोन के द्वारा धमकी दी गई कि नवान्न को उड़ा दिया जाएगा। जिसके कारण पुलिस के भी हाथ-पां फूल गये थे । पुलिस के वरीय अधिकारी तुरंत नवान्न पहुंचे व एक तल्ले से लेकर पूरा सचिवालय की बम निरोधक दस्ता व छह स्नीफर डॉग के द्वारा छान मारा गया लेकिन कथित बम नहीं मिला।

खैर जो भी हो लेकिन आगत वर्ष का स्वागत करते हुए आशा करते हैं कि विश्वमित्र की सद्भावना , बेहतर और सकरात्मक सोच के साथ महानगर कोलकाता इसी तरह से जिन्दादिल और अपने मस्त चाल में होगा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •