पूजा कमेटियों को 28 करोड़ देने पर नाराजगी

कोलकाता। कहते है कि बारुद को बस एक चिंगारी की जरुरत होती है। साफ कहे तो राज्य सरकार व तृणमूल कर्मचारी संगठन में ठन सी गयी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा राज्य की पूजा कमेटियों को 28 करोड़ रुपये का अनुदान देने की घोषणा के बाद सत्तारूढ़ तृणमूल का कर्मचारी संगठन भड़क गया है। अपनी ही पार्टी की सुप्रीमो के खिलाफ आंदोलन की तैयारी की जा रही है। सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता पिछले कई सालों से दरकिनार कर रही मुख्यमंत्री बनर्जी ने अब हाईकोर्ट के निर्देश के बावजूद महंगाई भत्ता के बारे में कोई भी कदम नहीं उठाया है जबकि 28 करोड़ रुपये के अतिरिक्त धनराशि की घोषणा कर दी है। पार्टी के सरकारी कर्मचारियों के संगठन राज्य को-ऑर्डिनेशन कमेटी के अध्यक्ष शंकर सिंह ने बुधवार को बताया कि सरकारी कर्मचारियों का 56 प्रतिशत महंगाई भत्ता अभी बाकी है। तीन सालों से राज्य सरकार इसे‌ टालती रही है। अब हाईकोर्ट का निर्देश आ जाने के बाद भी मुख्यमंत्री या राज्य वित्त विभाग की ओर से इस बारे में कोई भी घोषणा नहीं की गई लेकिन राज्य की 28000 पूजा कमेटियों को 10-10 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की मुख्यमंत्री की घोषणा स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि भले ही हमारी ही पार्टी की मुख्यमंत्री हैं लेकिन कर्मचारी संगठनों एवं सरकारी कर्मचारियों के हित को देखते हुए इसके खिलाफ आधिकारिक आंदोलन किया जाएगा एवं मुख्यमंत्री बनर्जी को सरकारी कर्मचारियों की समस्याओं से अवगत कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को संगठन के पदाधिकारी मुख्यमंत्री से मिलकर इस बारे में आपत्ति पत्र सौंपेंगे।
Spread the love
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares
  •  
    6
    Shares
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •