कोलकाता।अभ्यास सत्र के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ी व बाद में अस्पताल में ज्योति प्रधान की मृत्यु होने के बाद से ही मृतका के इलाका शोक में डूब गया है। लोग हैरत में है कि उनके बीच से एक प्रतिभा कैसे चली गई। महानगर  कोलकाता के भवानीपुर इलाके में 20 साल की एक मुक्केबाज अभ्यास सत्र के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज यह जानकारी दी।अधिकारी ने बताया कि कई राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पश्चिम बंगाल का प्रतिनिधित्व कर चुकी ज्योति प्रधान बुधवार को यहां भवानीपुर मुक्केबाजी संघ में अभ्यास के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ी। उन्होंने कहा कि ज्योति को नजदीकी एसएसकेएम अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। ज्योति खिदिरपुर इलाके की निवासी थी और कोलकाता के जोगेश चन्द्र चौधरी विधि महाविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई कर रही थी। अधिकारी ने कहा, “किसी भी प्रकार की गड़बड़ी संज्ञान में नहीं आई है और स्थानीय पुलिस को कोई शिकायत नहीं मिली है। हम उसकी मौत के कारणों का पता लगाने के लिये पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। आवश्यक कानूनी प्रक्रिया भी जारी है।”प्रधान कोलकाता के जोगेश चंद्र लॉ कॉलेज की छात्रा थीं और वह किडरपोर के भुकैलाश रोड पर रहती थीं। वह फिट थीं और रिंग में चुस्त भी। स्कूली दिनों से ही प्रधान ने बॉक्सिंग जगत में अपना नाम बना लिया था। उन्होंने स्कूल के दौरान भी नेशनल में भाग लिया था। इसके बाद वह सीनियर स्तर पर पहुंच गई थीं और 2018 में 60 किलो वर्ग में रोहतक में राज्य का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने छह महीने पहले ऑल इंडिया बॉक्सिंग क्लासिक में भी पदक जीते थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •