जमीनी कर्मियों के जरीये सीएम के निवास इलाके में सेंघ की तैयारी

कोलकाता। भले ही लोकसभा के चुानाव में अभी काफी समय है लेकिन राज्य में राजनीतिक समर का ऐलान तो हो ही चुका है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दो दिनों के अपने सफर की शुरुआत राज्य में काली माता के दर्शन के बाद करेगें। अमित शाह सीएम ममता बनर्जी के निवास इलाके कालीघाट में पार्टी कर्मियों के साथ बैठक कर भगवा खेमे में जोश का संचार करेगें। अमित शाह 27-28 जून को दो दिवसीय दौरे पर बंगाल आ रहे है और उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के गढ़ कालीघाट इलाके में ही सेंध लगाने का लक्ष्य बनाया है। बताया गया है कि कोलकाता के कालीघाट इलाके के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ वे पहले दिन ही बैठक करेंगे। इसी इलाके में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का घर है और वहां से चुनाव जीतती रही हैं। बताया गया है कि अपने दौरे के पहले दिन शाह प्रसिद्ध कालीघाट मंदिर में पूजा करने के बाद क्षेत्र में अपनी विशेष रणनीतिक बैठक शुरू कर देंगे। भाजपा सूत्रों ने कहा कि पार्टी अगले 2019 के लोकसभा चुनाव में ममता के गढ़ यानी दक्षिण कोलकाता निर्वाचन क्षेत्र को लक्षित कर रही थी। चुनाव से पहले पार्टी की तैयारी पर भी अमित शाह इसी बैठक में समीक्षा करेंगे। शाह 27 जून को पार्टी नेतृत्व के साथ एक संगठनात्मक बैठक की अध्यक्षता करेंगे और उसके बाद ही पुरुलिया जिले में मारे गए दो भाजपा कार्यकर्ताओं के निवास का दौरा करेंगे। कालीघाट इलाके में अमित शाह की बैठक का विशेष मतलब भी निकाला जा रहा है। माना जा रहा है कि ममता के घर में पार्टी को जमीनी स्तर पर मजबूत करने के लिए विशेष रणनीति बना रहे हैं।इससे पहले बंगाल की यात्रा के दौरान उन्होंने राज्य भर में 100 प्रतिशत बूथ समितियों के गठन पर जोर दिया था। उन्होंने पार्टी नेतृत्व को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे कि प्रत्येक समिति में कम से कम 10 लोग हों। इस महीने उनकी यात्रा के दौरान वह ममता के क्षेत्र पर विशेष ध्यान देने के साथ बूथ समितियों का गठन पूरा करने के बारे में पूरी रिपोर्ट लेंगे। बहरहाल राज्य की सीेएम ममता बनर्जी भी साफ सुथरा छवि वाले युवा नेताओं नेताओं को पार्टी में अहम पद देने की कवायद में है।
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •