कोलकाता। अगर कोई मरकर भी किसी के का आये तो इससे बड़ी बात क्या होगी।  ब्रेन डेथ एक महिला रोगी शोभना सरकार के परिजनों ने उसके अंगों को दान कर चार रोगियों को जीवनदान देकर नजीर गढ़ दी। सूत्रों के अनुसार मिंटो पार्क निवासी प्रसेनजीत सरकार की मां शोभना सरकार को डॉक्टरों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया था। इसके बाद महिला के परिजनों ने उसके महत्वपूर्ण अंगों को दान कर दूसरे रोगियों को जीवनदान करने का निर्णय लिया।ऐसे में महिला के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया । व्यवस्था से हरी झंडी मिलने के बाद को महिला रोगी के पुत्र प्रसेनजीत ने एसएसकेएम के डॉक्टर राजन पांडे और वेलव्यू अस्पताल के डॉ। प्रतिम सेनगुप्ता से संपर्क कर दो किडनी, लीवर और आंख को दान कर दिया।

दान किए गए अंगों को जरूरतमंद रोगियों में ट्रांसप्लांट करने का काम भी शुरू कर दिया गया था। इस बाबत प्रसेनजीत सरकार ने बताया कि ब्रेन डेड के बाद मां को वापस लाना संभव नहीं था, इसलिए किसी का जीवन बचाने के लिए उनके अंगों को दान करने का निर्णय लिया। उक्त घटना देश दुनिया के लोगों के लिये एक मिसाल है और माना जा रहा है कि शोभना सरकार के परिजनों के द्वारा उठाये गये कदम से सकरात्मक संदेश गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •