कारतूस, हथियार व सैंकड़ों लीटर शराब जब्त
महानगर में पुलिस के तेवर से हड़कंप

कोलकाता। अभीतक लोक सभा चुनाव की तारीख को घोषणा नहीं हुई है। लेकिन पुलिस ने जरायम पेशा दारों से लेकर तमाम अपराधिक मामलों में ताबड़तोड़ गिरफ्तारियों को अंजाम दिया है। कारण आने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग सख्त है। ऐसे में आयोगन ने राज्य में अपराधियों की नकेल कसने के लिये कहा है।ऐसे में कोलकाता पुलिस ने पिछले कुछ घंटे के दौरान बड़ी छापेमारी की है। शनिवार रात से आज सुबह तक कोलकाता के विस्तृत इलाके में विभिन्न मामलों में छापेमारी कर 853 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आज संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि 259 ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनके खिलाफ गैर जमानती धाराओं के तहत मामले दर्ज थे अथवा उनके खिलाफ वारंट जारी हुआ था। इसके साथ ही अन्य तरीके से अपराधिक वारदातों में शामिल हुए 594 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से कुछ लोगों ने पुलिस के साथ मारपीट की थी तो कुछ लोगों ने अपराधियों की गिरफ्तारी में बाधा बनने की कोशिश की थी। कुछ जगहों पर महिलाओं से छेड़खानी, मारपीट, छिनतई आदि की कोशिश में ये सारे लोग गिरफ्तार हुए हैं। इस कार्रवाई के दौरान एक बंदूक और एक गोली भी बरामद हुई है। पूरे कोलकाता के क्षेत्र में हुई छापेमारी के दौरान 535.5 लीटर शराब भी जब्त की गई है। बिना हेलमेट अथवा ट्रैफिक कानूनों को दरकिनार कर बाइक चलाने वाले 711 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। नशे में धुत होकर गाड़ी चलाने वाले 226 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं और चालान काटा गया है। प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि शनिवार रात 9:00 बजे से यह छापेमारी और वाहन जांच अभियान शुरू किया गया था जो आज सुबह तक चला है। इस दौरान इन सभी लोगों की गिरफ्तारियां हुई हैं और मामले दर्ज किए गए हैं। उन्होंने बताया कि कोलकाता के सभी 10 प्रशासनिक विभागों के उपायुक्तों ने इस छापेमारी और जांच अभियानों का नेतृत्व किया था। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि यह छापेमारी अभियान आगे भी जारी रहेगा। उल्लेखनीय है कि राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज अफताब में राज्य प्रशासन के साथ दो बार अहम बैठक की है और निर्देश दिया है कि लोकसभा चुनाव से पूर्व राज्य भर के अपराधियों की गिरफ्तारी हो जानी चाहिए, जिसके बाद कोलकाता समेत राज्य भर में दागी अपराधियों की धर-पकड़ शुरू है। कहा जा रहा है कि उक्त अभियान जारी रह सकता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •