कोलकाता।

सिलीगुडी के बागडोगरा स्थित सेंट्रल बैंक की शाखा में लूट की वारदात के मुख्य आरोपी चितना हसन खान उर्फ हसन शेख मुख्य आरोपी को पुलिस ने कोलकाता से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि चितना हसन को सियालदह स्टेशन से लगे एक होटल से दबोचा गया। पुलिस ने बताया कि बागडोगरा के विहार मोड़ स्थित सेंट्रल बैंक में 4 मई की रात को डकैती हुई। गुरूवार सुबह जब बैंक कर्मी कार्यालय पहुंचे तो देखा सब कुछ तितर-बितर था। बैंक कर्मियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। घटनास्थल पर सिलीगुडी मेट्रोपोलिटन पुलिस आयुक्त मनोज वर्मा और डीसीपी श्याम सिंह पहुंचे। जांच में पता चला किखिडकी का दरवाजा तोडकर चार से पांच लोगों ने बैंक में प्रवेश किया था। बैंक के 90 वॉल्टों में डकैतों ने 16 वॉल्ट को तोड़ा था।वॉल्टों को गैस कटर से काटा गया था। लाखों रुपये के गहने आदी लूटे गये थें।   सीसीटीवी कैमरा की सहायता से जांच की जा रही है। मनोज वर्मा ने बतायाकि सीआईडी फिंगर स्पेशलिस्ट के हाथों इसकी जांचहो रही है। इस डकैती में बैंक के कर्मी के भी हाथ होने की संभावना बतायी जा रही है। बैंक में हुई लूट की घटना के बाद पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था अदालत से रिमांड पर लेकर पुलिस इन आरोपियों से पूछताछ के बाद ही पुलिस को मामले में कई अहम जानकारी मिली है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि बाकी के  आरोपी झारखंड भाग गये हैं. जिन दो बदमाशों को पकड़ा गया है।  सबसे पहले मामले में जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया गयाथा वह लोग झारखंड के साहेबगंज के रहने वाले हैं। यह सभी लोग पुराने हिस्ट्रीशिटर हैं और इससे पहले भी बैंक लूट तथा डकैती जैसी कई अन्य वारदातों को अंजाम दे चुके हैं।  इनके खिलाफ झारखंड, दिल्ली तथा उड़ीसा में भी विभिन्न थानों में कई मामले दर्ज हैं।

 

 

 

 

 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •