सीमा पार अपने परिजनों की कुशलता जानने की बेताबी
चौबीस घंटे बाद भी दूर संचार की गड़बड़ी बनी बड़ी बाधा

जगदीश यादव

कोलकाता। बांग्लादेश में चक्रवाती ‘फानी’ के कहर से कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है और कई दर्जन लोग घायल हुए है। अभी भी बांग्लादेश में बिजली वितरण व्यवस्था को सुचारु रखने में स्थानीय विभाग को नाकों चने चबाने पड़ रहे है। लाखों लोग बिना बिजली के कारण परेशानी में है। वहीं कहा जा रहा है कि यहां फेरी सेवा को समान्य होने में तीन दिन और लग सकता है। साफ कहे तो बांग्लादेश में फानी के कहर का दर्द इस राज्य में झलक रहा है। इस राज्य के उत्तर व दक्षिण चौबीस परगना, कोलकाता, नदिया सहित राज्य के तमाम जिलों में ऐसे लोग वास कर रहे है जो या तो बांग्लादेशी घुसपैठी या फिर उनके रिश्तेदार बांग्लादेश में रहते है। उक्त लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ देखी जा सकती है। महानगर कोलकाता सहित राज्य में रह रहें कथित बांग्लादेशी अपने परिजनों की कुशलता की खबर जानने के लिये शनिवार से लगातार बांग्लादेश में अपने परिजनों से सम्पर्क कर रहें हैं या फिर सम्पर्क की कोशिश में लगे हुए है। नाम की गोपनियता पर पोर्ट अंचल व उत्तर चौबीस परगना जिले में रहने वाले कई लोगों ने उक्त जानकारी दी है। उक्त लोगों ने कहा कि वह लोग अपने परिजनों की कुशलता जानने के लिये बांग्लादेश में लगातार फोन कर रहें हैं। ज्यादत्तर लोगों की बात अपने परिजनों से हो चुकी है लेकिन ऐसे लोगों की कमी नही है जो बांग्लादेश में दूर संचार व्यवस्था के ठप होने से अपने परिजनों से बात नहीं कर सके है और ऐसे लोग बेहद चिंचित है। इनका कहना है कि रमजान सामने है और ऐन समय पर दुख के बादल छाने से हमलोग दर्द के दौर से गुजर रहें है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •