बचाये गये सभी 22 क्रू मेंबर्स सुक्षित
70 प्रतिशत तक जल चुका जहाज
समुन्द्र में फैला काफी मात्रा में तेल

रौनक कुमार शंकर
कोलकाता/हल्दिया। हल्दिया के करीब बंगोपसागर में एक जहाज में भीषण आग लगने के कारण सबकी सांसे तब थम गई जब आग की लपटों में उक्त जहाज के सभी 22 क्रू मेंबर्स घिर गये। इसे व्यवस्था की चुस्ती ही कही जाएगी की तमाम कोशिश के बाद सभी 22 क्रू मेंबर्स बचा लिये गये। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि स्वदेशी मर्चेंट कंटेनर एमवी एसएसएल कोलकाता में आज सुबह आग लग गई। इस जहाज में 460 कंटेनर लदे हुए थे। घटना का पता चलते ही कोस्ट गार्ड के जहाज को फौरन हल्दिया भेजा गया। समुद्र और तेज हवाओं के कारण जहाज बेहद तेजी से 70 प्रतिशत तक जल गया। गौरतलब है कि इससे पहले बुधवार रात को एमवी नलिनि नाम के पोत में आग लगने से एक सदस्य की जान चली गई थी।एमवी कोलकाता के बारे में पता लगते ही कोस्ट गार्ड शिप राजकिरण और डॉर्नियर तीन घंटे के अंदर पहुंच गए। तब तक कंटेनर के कप्तान उसे छोड़ने का फैसला कर चुके थे। कंटेनर पर मौजूद क्रू के सभी 22 सदस्यों को बचा लिया गया है। यह कंटेनर श्रेयस शिपिंग ऐंड लॉजिस्टिक्स का है। यह कृष्णपट्टिनम से कोलकाता जा रहा था। बताया जाता है कि बुधवार रात 22:15 बजे इसमें एक धमाका हुआ जिससे आग लग गई। फिलहाल यह कोलकाता पोर्ट के पास है और इसमें से सामान निकाला जा रहा है। इससे पहले केरल तट के नजदीक कोच्चि तट के पास लंगर डाले एमवी नलिनी में अचानक आग लग गई। आग लगने से गंभीर रूप से झुलसे चालक दल के एक सदस्य की मौत हो गई। पोत रसायन का टैंकर था और मिट्टी के तेल से लदा था। बचाव अभियान दक्षिणी नौसेना कमान , तट रक्षक और अन्य एजेंसियों ने चलाया था। वैसे खबरों की माने तो आग और फिर खराब मौसम की वजह से जहाज का संतुलन भी बिगड़ रहा था और जहाज के कैप्‍टन ने तय किया कि वह इसे ऐसी जगह पर लेकर जाएगा जहां पर पानी कम होगा। बाद में कैप्‍टन ने जहाज को छोड़ने की योजना बनाई। कोस्‍ट गार्ड ने अपना डॉर्नियर एयरक्राफ्ट कोलकाता से रवाना किया। इसके बाद कोस्‍ट गार्ड का जहाज आईसीजीएस राजकिरन आज के सुबह तकरीबन 8:30 बजे यहां पर पहुंचा और इसने 22 लोगों को बचाने की कोशिशें शुरू की थी। खराब मौसम और समंदर के हालातों की वजह से काफी मुश्किलें कोस्‍ट गार्ड की यूनिट्स के सामने आ रही थी।माना जा रहा है कि एसएसएल कोलकाता से काफी मात्रा में तेल निकलकर समंदर में फैल गया होगा। कोस्‍ट गार्ड अथॉरिटीज लगातार कोलकाता पोर्ट ट्रस्‍ट से संपर्क बनाए हुए हैं। आग बुझाने के सामान के साथ कोस्‍ट गार्ड के जहाज अपने रास्‍ते पर हैं। विशाखापट्टनम और चेन्‍नई से निकले जहाज अपने साथ प्रदुषण को नियंत्रित करने वाले उपकरण लेकर रवाना हुए हैं।

Spread the love
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share
  •  
    1
    Share
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •