रौनक कुमार शंकर
खड़गपुर/कोलकाता। पुरी-हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस में खाने में विषक्रिया होने के कारण तीस यात्री अस्वस्थ्य हो गये। उक्त स्थिति को लेकर अन्य यात्रियों में रेलवे प्रशासन के खिलाफ गुस्सा भी फूटा। आज सुबह 5.45 बजे पुरी स्टेशन से पुरी-हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस रवाना हुई। इस ट्रेन में कुल 475 यात्री सफर कर रहे थे। दक्षिण पूर्व रेलवे सूत्रों ने बताया सभी यात्री सुबह स्वस्थ्य तौर पर यात्रा कर रहे थें। अचनक कुछ यात्रियों ने नाश्ते के बाद उल्टी शुरू कर दी। फिर कुछ अन्य यात्रियों ने भी तरह की शारीरिक असुविधा की शिकायत की। जैसे जैसे समय बढ़ता रहा है बीमार यात्रियों की संख्या भी बढ़ती रही। यात्रियों को उल्टी, पेट में बेचैनी के साथ सिरदर्द की शिकायत हुई है। यात्रियोंं का आरोप है कि ट्रेन में दिये गये विषाक्त खाने के कारण ही लोग बीमार हुए है। ट्रेन में सफर कर रहें अन्य यात्रियों व अस्वस्थ्य यात्रिनों ने आरोप लगाते हुए मीडिया कर्मियों को बताया कि विषाक्त खाने के कारण ही उक्त स्थिति हुई है। जबकि जैसे ही लोग बीमार होने लगे अटेण्डस व रेल कर्मियों को घटना की जानकारी दी गई लेकिन राहत कार्य में देर होने पर लोग ज्यादा बीमार हुए। अस्वस्थ्य 30 लोगों में 13 लोगों की स्थिति गंभीर होने पर उन्हें खड़गपुर स्टेशन में उतारा गया व खड़गपुर के रेलवे अस्पताल में इनलोगों का इलाज चल रहा है।खड़गपुर मंडल के डीआरएम आरके आर रेड्डी बीमारों को देखने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि घटना की जांच की जायेगी। जानकारी के अनुसार खाने के नमूने को संग्रह कर जांच के लिए रखा गया है।

Spread the love
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share
  •  
    1
    Share
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •