लिंगराज साहू को ‘इंडियन यूूथ मीडिया आइकान अवार्ड’

कोलकाता। पत्रकारिता एक महान पेशा है और इस पेशे को दुनिया भर के देशो में व्यापक सम्मान मिलता है। मीडिया कर्मी असल में एक ऐसे सैनिक हैं जो बिना हथियार के ही समाज की बुराईयों से लड़ते है और समाज को एक तरह से आईना दिखाते हैं। उक्त बात नैशनल प्रेस डे के अवसर पर महानगर कोलकाता में इंडियन काउंसिल आफ प्रेस मीडिया एण्ड सैटेलाइट ब्राडकास्टिंग (आईसीपीएमएसबी)  द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि व कारी अहमर फाउण्डेशन के निदेशक जैद अनवार मोहम्मद ने कही। इस दौरान उन्होंने ओडिशा से आये वरीय मीडिया कर्मी लिंगराज साहू को इंडियान यूूथ मीडिया आइकान अवार्ड से प्रदान किया। वहीं काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश यादव ने कहा कि पश्चिम बंगाल की बात करे तो यहां भी बहुत तेजी के साथ कॉपी पेस्ट पत्रकारिता की प्रवृति बढ़ रही है और इससे नवोदित मीडिया कर्मियों की गुणवत्ता खतरे में पड़ सकती है। प्रिंट मीडिया कई मायनों और कारणों से  ट्रांसलेसन पत्रकारिता के भरोसे चलती दिख रही है और इसका सबसे ज्यादा असर नई पीढ़ी पर पड़ रहा है और वह घटना स्थल रिपोर्टिंग से कटते जा रही है। प्रिंट मीडिया में युवाओं का एक बड़ा वर्ग  कट पेस्ट, इंटरनेट और शोसल मीडिया के कारण अपनी कार्य क्षमता को पहंचान नही पा रहें है। ऐसे में देखा जा सकता है कि खबरें सच से विदक रही है। यादव ने कहा कि कभी सम्पादक, समाचर सम्पादक व मुख्य संवाददाता अभिभावक व गुरु के तौर पर महसूस किये जाते थें लेकिन अब यह मानद परम्परा दम तोड़ रही है।इस दौरान वरीय मीडिया कर्मी गदाधर दास, काउंसिल के अब्जर्वर फिरोज आलम आदी ने अपनी बात कही।
Spread the love
  • 39
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    39
    Shares
  •  
    39
    Shares
  • 39
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •