भड़काऊ बयान देने पर हुई कार्रवाई

कोलकाता। चुनावी मौसम में कब किसकी जुबान फिसल जाये कहा नहीं जा सकता है। लेकिन जुबान फिसलन के कारण राजनीतिक पार्टियों के उम्मीदवारों को इसकी किमत भी चुकानी पड़ रही है। तृणमूल प्रार्थी व अभिनेता देव अब भड़काऊ बयान देने पर फंस गये हैं। चुनाव के दौरान तैनात होने वाले केंद्रीय जवानों का हाथ तोड़ने के लिए कार्यकर्ताओं को भड़काने वाले पश्चिम मेदिनीपुर जिले के तृणमूल अध्यक्ष अजीत माइती को राज्य चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है। माइती से 48 घंटे के अंदर अपने बयान पर सफाई मांगी है। दरअसल, घाटाल लोकसभा क्षेत्र से तृणमूल उम्मीदवार घोषित किए गए अभिनेता देव शुक्रवार को पहली बार चुनाव प्रचार करने के लिए क्षेत्र में पहुंचे थे। देव के साथ जिला तृणमूल अध्यक्ष अजीत माइती भी थे। इस दौरान माइती ने कार्यकर्ताओं को भड़काते हुए कहा था कि अगर चुनाव के दौरान केंद्रीय जवान ज्यादा उछल कूद करते हैं तो उनका हाथ तोड़ देना। बाकी वह देख लेंगे। उनके इस बयान का वीडियो राज्य चुनाव आयोग के पास पहुंचा था जिसके बाद शनिवार को उन्हें नोटिस भेजा गया है। सोमवार तक उनसे इस पर जवाब देने को कहा गया हैै। माना जा रहा है कि उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सकती है। उल्लेखनीय है कि चुनाव की तारीखों की घोषणा होने के बाद से ही पश्चिम बंगाल में लगातार राजनीतिक हिंसा और हिंसक बयानबाजी हो रही है। अभी तक चुनाव आयोग की ओर से राज्य के शहरी विकास मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम, बीरभूम जिले के तृणमूल अध्यक्ष अणुब्रत मंडल, तृणमूल के मंत्री रविंद्र नाथ घोष, भाजपा के आसनसोल से सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के बाद अब अजीत माइती को भी नोटिस भेजा गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •