घटना के खिलाफ फूटा जनाक्रोश    

बीरभूम। प्रदेश में महिलाओं से जूड़े वारदातों की बाढ़ आ गई है। बीरभूम जिले के तारापीठ स्थित रामभद्रपुर की एक छात्रा सुपर्णा के साथ पहले दुष्कर्म व फिर उसकी हत्या का मामला प्रकाश में आते ही इलाके में तनाव फैल गई है। देश व दुनिया भर में मां तारा काली के लिये जाने जाने वाले तारपीठ इलाके में उक्त घटना से जबरदस्त गुस्सा है।  पुलिस व लोगों ने बताया कि उक्त छात्रा का शव शुक्रवार की सुबह को रामभद्रपुर में ही एक मैदान से पाया गया। पुलिस का मानना है कि छात्रा के साथ पहले दुष्कर्म किया गया होगा और फिर उसकी हत्या स्वांस रोक कर की गई है। उक्त घटना के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा व लोगों ने हंगाम मचाते हुए पुलिस से मांग किया कि घटना की जांच के लिये स्नीफर डाग का उपयोग किया जाये। यहीं नहीं छात्रा के शव को लेकर जाने के लिये आई पुलिस कर्मियों को ग्रामीणों ने रोके रखा औऱ लिस के कुत्ता लाने के लिये पुलिस पर दबाव देंते रहें। पुलिस जब खोजी कुत्ता लेकर आई तब कही जाकर छात्रा के शव को ले जा सकी। बताया जा रहा है कि बसवा स्कूल में कक्षा पांचवी की छात्रा गुरुवार की रात को अपनी दादी के साथ घर में सोई थी। आरोप है कि रात के देड़ बजे छात्रा की दादी ने पाया की उसकी पोती बिछौने से गायब है। परिजन छात्रा को तलाशने लगे लेकिन वह नहीं मिली। आरोप है कि बदमाश छात्रा को उसके घर से उठाकर ले गये होगें व वारदात को अंजाम दिया होगा। मामले पर बात करने पर एसडीओ कमल बैरागी ने बताया कि प्राथमिक जांच में लग रहा है कि बदमाश छात्रा को उठाकर ले गये होंगे व फिर दुष्कर्म के बाद कहीं और हत्या कर शव को इलाक में फेंक दिया होगा। पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। अपराधी जल्दी ह पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •