हावड़ा। दक्षिण 24 परगना पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन टीम के हाथों गिरफ्तार तीन हथियार तस्करों से पूछताछ के बाद डोमजूड़ के बेगड़ी में हथियार बनाने के कारखाने का भंड़ाफोड़ हुआ है। बिती रात पुलिस की टीम डोमजूर पहुंची आैर हथियार कारखाने में छापामारी कर उसे सील कर दिया. यहां से भारी मात्रा में अर्द्ध निर्मित हथियार बरामद किये गये हैं।  तलाशी के दौरान मौके से काफी संख्या में हथियार जब्त किए गए हैं। जब्त हथियारों में 7 एमएम पिस्तौल, 11 अ‌र्द्धनिर्मित हथियार, मैगजीन शामिल है। इसके अलावा हथियार बनाने में प्रयुक्त उपकरणों व सामानों को मौके से पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस ने उक्त कारखाना को सील कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि छापामारी के दौरान किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका। जानकारी के अनुसार तस्कर असलहों की भारी खेप लेकर मुंगेर से दक्षिण 24 परगना जिले के बारूईपुर थानांतर्गत कैनिंग लेकर जा रहे थे। गुप्त सूचना के बाद 24 परगना की पुलिस ने हथियार तस्कर को दबोच लिया। इस दौरान पुलिस ने तीन तस्करों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों में जियारूल डोमजूड़ के रायपुर का रहने वाला है। उससे पूछताछ करने के बाद पता चला कि मुंगेर के रहने वाले उसके दो तस्कर साथी हथियार लेकर डोमजूड़ पहुंचे हैं। इसके बाद उसे कैनिंग लाया जा रहा था। हथियार को डोमजूड़ से होकर लाने को लेकर पुलिस को संदेह हुआ। जियारूल से गहन पूछताछ की गई। उसने पुलिस को बताया कि वह मुंगेर से रिवाल्वर समेत अन्य हथियार बनाने में एक्सपर्ट लोगों की देखरेख में हथियारों का निर्माण करवाता है। करीब एक वर्ष से हथियार तैयार करने का कारखाना डोमजूड़ में चला रहा है। उसने यह भी बताया कि ग्राम के एक निर्जन व जंगल के बीच एक स्थान पर छोटा सा घर बना रखा है। घर को चारों ओर से प्लास्टिक से घेरकर रखा गया है, ताकि किसी को इसकी भनक नहीं लगे। निर्माण कार्य के लिए चल रहे लेद मशीनों की आवाज बाहर ना जाए इसके लिए वे लोग हमेशा तेज आवाज में लाउड स्पीकर बजाते थे।  पुलिस गिरफ्तार आरोपितों से गहन पूछताछ कर मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश में जुट गई है। पुलिस के सामने कई सावल हैं। कारखाने में बने हथियार कहां आपूर्ति किए जाते थे, हथियारों में प्रयुक्त उपकरण समेत अन्य सामान कहां से लाए जाते थे, समेत अन्य कई सवाल हैं, जिसकी जानकारी जुटाने में पुलिस जुट गई है। बता दें कि हथियार निर्माण करने के कारखाना के खुलासा के बाद हावड़ा का तार फिर से एक बार मुंगेर से जुड़ गया है।
Spread the love
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3
    Shares
  •  
    3
    Shares
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •