मुख्यमंत्री ममता बनर्जी निधन पर जताया शोक

कोलकाता। यह साल जाते जाते बांग्ला फिल्म जगत की एक और हस्ति को छिन गया। बांग्ला फिल्मों के जाने-माने अभिनेता पार्थ मुखोपाध्याय का यहां सोमवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। पार्था के परिवार से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। वह 70 साल के थे। मुखोपाध्याय कुछ समय से बीमार थे मुखोपाध्याय ने 1960 दशक की फिल्मों में काफी यादगार किरदार निभाए। उन्हें 1958 में आई फिल्म ‘मा’ में एक बाल कलाकार की भूमिका मिली और इसके बाद उनकी किस्मत बदल गई। इस फिल्म के निर्देशक चिट्टो बसु थे। रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखित कहानी पर आधारित फिल्म ‘अतिथिया’ में तपन सिन्हा ने उन्हें नायक का किरदार दिया था। इसके अलावा, मुखोपाध्याय को सिन्हा की एक अन्य फिल्म ‘अपोनजोन’ में देखा गया। कॉमेडी और गंभीर दोनों किरदारों को निभाने के लिए लोकप्रिय मुखोपाध्याय की लोकप्रिय फिल्मों में ‘बालिका बोधु (1967)’, ‘धोन्यी मेये (1971)’, ‘अग्निश्वर (1975)’, ‘अमर पृथ्वी (1985)’ और ‘बाग बंदी खेला (1975) शामिल हैं।’ राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुखोपाध्याय के निधन पर शोक जताया है। अपने एक संदेश में ममता ने कहा कि मुखोपाध्याय को कई फिल्मों में उनके बेहतरीन अभिनय के लिए हमेशा याद रखा जाएगा। राज्य सरकार ने मुखोपाध्याय को बांग्ला फिल्मों में योगदान के लिए विशेष पुरस्कार से नवाजा था।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •