कोलकाता।

जादवपुर विश्व विद्यालय गड़बड़ी व अराजकता का अखाड़ा बन गया है। कुछ ऐसा ही मानना है प्रदेश के राज्यपाल व आचार्य केशरी नाथ त्रिपाठी का। उन्होंने उक्त विवि में शुक्रवार की रात को हंगामा व मारपीट को लेकर दिये गये अपने एक बयान में कहा कि जादवपुर को कड़वी दवा की जरुर है और विवि प्रबंधन को सख्ती बरतने की आवश्यकता है। जादवपुर विश्व विद्यालय के बारे में कहा कि एक ऐसा भी समय था जब यह विवि ज्ञान चर्चा व उत्कर्षता का केन्द्र था लेकिन अब अराकता का केन्द्र बन गया है। उन्होंने कहा कि मामले पर विवि प्रबंधन को कड़ी कार्रवाई की जरुरत है। लेकिन राज्यपाल ने यह नहीं बताया कि क्या वह मामले पर विवि के उपाचार्य से कोई रिपोर्ट तलब करेंगे। ज्ञात हो कि शुक्रवार की रात को एक सिनेमा के प्रदर्शन को लेकर हुए विवाद के दौरान जादवपुर इलाका  रणक्षेत्र में बदल गया था। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले  जादवपुर विश्वविद्य़ालय के एक आडोटेरियम को विवेक अग्निहोत्री द्वारा परिचालित सिनेमा ‘बुद्ध इन ट्राफिक जाम’ दिखाने के लिये बुक किया गया था। आयोजकों का आरोप है कि आखिरी समय में हाल बुकिंग रद्द कर दी गई। बाद में इस दिन रात को विश्वविद्यालय के कैंपस में सिनेमा दिखाया भी गया और विरोध में परिचालक को काला झंडा दिखाया। इसके बाद ही भाजपा के छात्र संगठन व छात्रों के अन्य एक गुट में जम के मारपीट की घटना घटी।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •