कोलकाता। राज्य के दार्जिलिंग तथा सिलीगुड़ी को जल्द ही पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीओपीएसके) मिलेगा। विदेश राज्य मंत्री एम.जे.अकबर ने शनिवार को यहां यह बात कही। दो पीओपीएसके का उद्घाटन करते हुए अकबर ने कहा कि पासपोर्ट पाना अब अधिकार है और प्रत्येक नागरिक, खासकर गरीबों के लिए अब यह सपना नहीं होगा। उन्होंने कहा, “सरकार चाहती है कि वह पासपोर्ट सेवा को प्रत्येक नागरिक तक पहुंचाए और इसलिए विदेश मंत्रालय ने देश भर में हर 50 किलोमीटर की दूरी पर पासपोर्ट सेवा केंद्र खोलने के लिए डाक विभाग के साथ सहयोग किया है।” मंत्री ने कहा, “जल्द ही दार्जिलिंग व सिलीगुड़ी तथा पश्चिम बंगाल के अन्य जगहों पर भी पीओपीएसके होगा।” दोनों विभागों के साथ आने को सुशासन का संकेत करार देते हुए मंत्री ने कहा कि विदेश मंत्रालय हर जगह पासपोर्ट सुविधा मुहैया कराने के लिए डाक विभाग के व्यापक नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकता है। उन्होंने कहा कि पासपोर्ट होने पर युवा दुनिया के किसी भी कोने में जाने में सक्षम होंगे, जो आज एक वैश्विक गांव में तब्दील हो चुकी है। विदेश जाकर युवा आर्थिक लाभ का फायदा उठा सकते हैं। अकबर ने उत्तरी कोलकाता के बिदोन स्ट्रीट पोस्ट ऑफिस में पीओपीएसके का उद्घाटन किया। इसी जगह पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने नादिया जिले में कृष्णानगर हेड पोस्ट ऑफिस में एक और पीओपीएसके का उद्घाटन किया। पश्चिम बंगाल में पीओपीएसके की संख्या अब चार हो गई है, जिसके साथ ही राज्य में परियोजना का पहला चरण खत्म हो गया। इससे पहले, प्रदेश के आसनसोल तथा रायगंज में पीओपीएसके खोला गया था। आसनसोल स्थित पीओपीएसके में हर महीने 1,000 पासपोर्ट बन रहा है। रायगंज से अब तक 500 पासपोर्ट जारी किए जा चुके हैं।
Spread the love
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3
    Shares
  •  
    3
    Shares
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •