एमआईसी देवाशीष कुमार ने किया कार्य का मुआयना

कोलकाता। महानगर कोलकाता के तमाम गंगा घाटो में दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन शुरु हो गई है। शुक्रवार की रात से ही कोलकाता पुलिस की कड़ी निगरानी में महानगर कोलकाता के 23 गंगा घाटों पर लगातार प्रतिमा विसर्जन का काम चल रहा है। इस बीच आज सुबह से ही नगर निगम के कर्मियों ने सभी गंगा घाटों पर विसर्जित की गई प्रतिमाओं के बचे हुए हिस्से को निकालने, फूल, लकड़ी कपड़े आदि को चुनकर तय जगह पर पहुंचाने में जुट गए हैं। कोलकाता नगर निगम के मेयर परिषद के सदस्य (उद्यान) देवाशीष कुमार ने शनिवार

Photo-Pushan Charkaborty

को इस बारे में बताया कि प्रतिमा विसर्जन के बाद उसे तुरंत निकाल लेने के लिए नगर निगम की ओर से विशेष व्यवस्था की गई है। इसके लिए निगम के 500 कर्मचारी शुक्रवार से लेकर सोमवार तक के लिए गंगा घाटों पर तैनात कर दिए गए हैं। इसके साथ ही कचरा ढोने वाली 45 गाड़ियों को भी लगाया गया है जो शनिवार सुबह से ही विभिन्न गंगा घाटों से एकत्रित होने वाली प्रतिमाओं के ढेर को लेकर धापा और अन्य जगहों पर पहुंचा रहे हैं। उन्होंने बताया कि नदी के बीच से विसर्जित की गई प्रतिमाओं को निकालने के लिए अस्थाई तौर पर क्रेन भी लगाया गया है जिसके जरिए प्रतिमा की लकड़ी के हिस्से और अन्य उन सभी चीजों को निकाला जा रहा है जिसके जरिए जल प्रदूषण की आशंका है। फूल, प्लास्टिक, कपड़ा आदि भी एक-एक कर चुन लिया जा रहा है जो विसर्जन के दौरान गंगा में फेंके गए हैं। देवाशीष कुमार ने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देशानुसार किसी भी तरह से गंगा प्रदूषण को रोकने के लिए नगर निगम सतर्क है। प्रतिमाओं के अवशेष विसर्जन के बाद गंगा में नहीं रहने दिए जा रहे हैं। इधर शनिवार को भी कुछ प्रतिमाओं का विसर्जन गंगा घाटों पर हुआ है लेकिन आज इसकी संख्या काफी कम थी। देवाशीष ने बताया कि रविवार और सोमवार को सभी प्रतिमाओं का विसर्जन हो जाएगा।

Spread the love
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3
    Shares
  •  
    3
    Shares
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •