कोलकाता। लगता है कि क्रिकेटर मोहम्मद शमी की परेशानी का समापन नहीं होने वला है। अब शमी की पत्नी हसीन जहां ने कोलकाता पुलिस के आला अधिकारियों से मिलकर अपने पति व ससुराल वालों के खिलाफ शारीरिक व मानसिक अत्याचार करने सहित कई आरोप लगाते हुए लिखित शिकायत दर्ज कराई है। हसीन जहां की लिखित शिकायत के आधार पर कोलकाता के जादवपुर थाने में शमी और उनके बड़े भाई सहित परिवार के पांच सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। शमी की पत्नी ने अपने वकील के साथ कोलकाता पुलिस के मुख्यालय लालबाजार जाकर खुफिया शाखा के प्रमुख प्रवीण त्रिपाठी को अपनी लिखित तहरीर सौंपी। कोलकाता पुलिस आयुक्त के नाम लिखी इस तहरीर में हसीन जहान ने अन्य महिलाओं के साथ शमी के अवैध संबंधों का उल्लेख करने के अलावा शमी व उनके परिवार वालों पर मानसिक व शारीरिक अत्याचार तथा हत्या की कोशिश करने जैसे गंभीर आरोप लगाये हैं। पत्र में हसीन जहां ने लिखा है कि एक बार शमी व उनके परिवार वालों ने खाने में जहर मिला कर उन्हें जान से मारने की कोशिश की। हसीन ने लिखा कि शमी ने उनका भरोसा तोड़ा है। वह अक्सर उन्हें धमकाता था, उनके साथ मारपीट करता था, यहां तक कि उनकी मर्जी के खिलाफ यौन संबंध बनाने के लिए उन्हें मजबूर किया जाता था। पत्र में कहा गया है कि एक बार शमी ने खुद उसे अपने बड़े भाई के साथ यौन संबंध बनाने के लिए दबाव डाला था। उन्होंने पुलिस से अपने पत्र को एफआईआर के तौर पर स्वीकार करने का अनुरोध किया। शुक्रवार को उनकी लिखित तहरीर के आधार पर मोहम्मद शमी व उनके परिवार के चार अन्य सदस्यों के खिलाफ कोलकाता के जादवपुर थाने में मामला दर्ज कर लिया गया। इनमे शमी के बड़े भाई मोहम्मद हासिब, भाभी शमा परवीन, मां अंजुमन आरा बेगम तथा बहन सबीना अंजुम का नाम शामिल है। इन सभी के खिलाफ भादवि की धारा 498ए, 323, 307, 376, 506, 328 तथा 34 के तहत मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी गई है। कोलकाता पुलिस की खुफिया शाखा के प्रमुख प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि शमी की पत्नी ने अपने पति व ससुराल वालों के खिलाफ लिखित शिकायत की थी जिसके आधार पर शमी व उनके परिवार के चार अन्य सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की गई है। फिलहाल इस मामले में ज्यादा कुछ कहना ठीक नही है।

Spread the love
  • 5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    5
    Shares
  •  
    5
    Shares
  • 5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •