विशेष विमान से जाएगें सभा स्थल पर
सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद व अभूतपूर्व

कोलकाता। बंगाल में अपने बढ़ते कदम से भगवा खेमा काफी उत्साहित है और और इसी क्रम में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जंगलमहल के अन्यतम क्षेत्र में एक मेदिनीपुर में एक जनसभा को सम्बोधित करेगें। पीएम के उक्त सभा के लिये तैयारी पूरी हो चुकी है और 36 घंटे पहले से ही सभा स्थल व आसपास के इलाके ही नही बरन जिले भर में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दिया गया है। सुरक्षा की व्यवस्था कुछ इस कदर होगी कि बिना विशेष इजाजत के सरकारी अधिकारी से लेकर भाजपा का कोई दिग्गज नेता भी मंच के आसपास नही फटक सकता है। पीएस की सभा मेदनीपुर जिले के कॉलेजिएट स्कूल ग्राउंड में होगी है। प्रदेश भाजपा सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि सोमवार की सुबह प्रधानमंत्री महानगर कोलकाता पहुंच जाएंगे जहां से विशेष विमान से मेदनीपुर रवाना होंगे। इसके लिए प्रदेश नेतृत्व ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। प्रधानमंत्री के सुरक्षा में तैनात रहने वाले एसपीजी और आईबी के जवान शनिवार को ही सभा स्थल पर पहुंच गए हैं पूरे इलाके को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है। राज्य पुलिस के साथ समन्वय बनाकर रैली की सारी व्यवस्थाएं की जा रही है। बताया गया है कि इस सभा में राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी भी मौजूद होंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस बारे में पुष्टि करते हुए बताया कि “हमारे लिए लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल बेहद अहम है।हाल ही में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में पश्चिम मिदनापुर के जंगलमहल इलाके के लोगों ने भारतीय जनता पार्टी को अधिकतर सीटों पर जीत दिलाई है। साथ ही केंद्र की सरकार ने किसानों की फसल खरीद का समर्थन मूल्य डेढ़ गुना बढ़ाया है। इससे संबंधित जानकारी देने और किसानों से सीधे संवाद करने के लिए प्रधानमंत्री बंगाल आ रहे हैं। कृषि और किसानों के विकास के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी गई राशि का इस्तेमाल पश्चिम बंगाल सरकार ने बिल्कुल भी नहीं किया है, यह जानकारी यहां के किसानों को दी जाएगी।” 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री का यह दौरा बेहद अहम है।हालांकि अब तक के कार्यक्रमों में, संबोधन या जनसभा में प्रधानमंत्री ने कभी भी सीधे तौर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला नहीं बोला है। इस बार हालात बदले हुए हैं एवं ममता बनर्जी ने केंद्र की सरकार के खिलाफ खुले तौर पर सबसे मुखर तरीके से मोर्चा खोल रखा है। ऐसे में प्रधानमंत्री के संबोधन पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। ज्ञात हो कि हाल के कुछ वर्षों में भारतीय जनता पार्टी ने वाम मोर्चा और कांग्रेस को पीछे छोड़कर राज्य में मुख्य विपक्षी के तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी है।हाल ही में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में व्यापक धांधली और अबाध हिंसा के बावजूद राज्य के प्राय: सभी जिलों में भाजपा दूसरे नंबर पर रही और पुरुलिया, नदिया, मालदा और मिदनापुर आदि जिलों में तृणमूल को मात दे दी है। ऐसे में प्रधानमंत्री का संबोधन 2019 की लड़ाई के लिए बेहद अहम होगा। ज्ञात हो कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के मिशन बांग्ला के तहत भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में अपनी नजरें टिका ली हैं। गत 29 जून को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बंगाल दौरे के बाद अब 15 दिनों के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा को यूं ही दरकिनार नहीं किया जा सकता है।

Spread the love
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares
  •  
    2
    Shares
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •