लोगों ने बांधा दुर्वा घास के साथ मौली धागा

जगदीश यादव
कोलकाता। काली क्षेत्र कलीघाट में आज मां विपद तारिणी की पूजा व अराधना की धूम रही। कालीक्षेत्र में आज जगह जगह माता की पूजा के अवसर उमड़ी भीड़ के कारण पैर रखने की जगह नही थी। विशेष कर श्रद्धालु महिलाओं की जबर्दस्त भीड़ रही। यही नहीं महानगर के काली व शीतला मंदिरों में श्रद्धालु महिलाओं की सर्वाधिक भीड़ देखी गई। कालीघाट में पुरोहित संजीव दुबे, कौशिक व श्रद्धालु महिलाओं ने बात करने पर बतया कि लोगों में आस्था है कि मां विपद तारिणी की पूजा करने से सभी प्रकार की विपत्तियों से मुक्ति मिलती है। कालीघाट में जगह जगह में पंडितों ने सामूहिक रूप से मां विपदा तारिणी की पूजा कराई। इसके बाद कथा भी सुनाई गई। पूजा के बाद महिलाओं ने अपने परिवार के प्रत्येक सदस्यों को दुर्वा घास के साथ मौली धागा बांह में बांधा। यह विपदाओं से रक्षा के लिए बांधा जाता है। इस दौरान महिलाओं ने बताया कि पूजा में 14 प्रकार के फल प्रसाद के रूप में चढ़ाये जाते हैं। इस दिन महिलाएं सुबह से ही निर्जला उपवास करती हैं। पूजा के बाद ही महिलाएं प्रसाद ग्रहण करती हैं और अपना व्रत तोड़ती हैं। इधर कालीघाट में माता विपद तारिणी की पूजा के अवस र पर मेला का आयोजन किया गया था जहां लोगों ने पूजा के साथ पेटपूजा का भी आनंद लिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •