सेना का हथियार माओवादियों को पहुंचाता था भगवान जी

आरोपी ट्रांजिट रिमांड पर लाया गया महानगर

कोलकाता। कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को इच्छापुर राइफल फैक्ट्री काण्ड में एक और कामयाबी मिली है। इच्छापुर राइफल फैक्ट्री में सेना के लिए बने अत्याधुनिक हथियार निकालकर माओवादियों तक पहुंचाने वाले गिरोह के एक और सदस्य को कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार किया है। उसका नाम गणेश पासवान उर्फ भगवान जी (34) है। वह बिहार के नालंदा जिला स्थित गाजीपुर का रहने वाला है।एसटीएफ की टीम ने उसे कुल्टी के बराकर से गिरफ्तार किया है। उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर एसटीएफ की टीम कोलकाता पहुंची है। इस बारे में एसटीएफ के उपायुक्त मुरलीधर शर्मा ने जानकारी दी।उन्होंने बताया कि 6 मई को महानगर के कोलकाता के बाबू घाट से पकड़े गए बिहार के दो कुख्यात हथियार तस्करों अजय पंडित और जयशंकर पांडे से पूछताछ के बाद राजेश कुमार उर्फ मुन्ना नाम के एक और आरोपित को गत रविवार बिहारशरीफ से गिरफ्तार किया गया था। वह माओवादियों व हथियार तस्करों के बीच लिंक मैन का काम करता था। उसकी गिरफ्तारी के बाद बिहार के तीनों तस्करों को एक साथ बैठा कर पूछताछ की गई जिसके बाद गणेश के बारे में जानकारी मिली थी। इधर 6 मई को इनकी गिरफ्तारी के दूसरे दिन से एसटीएफ की टीम बिहार, झारखंड समेत अन्य सीमावर्ती राज्यों में मौजूद थी। लगातार छापेमारी और तलाशी अभियान चलाया जा रहा था जिसके बाद गुरुवार शाम गणेश को गिरफ्तार किया जा सका है। वह ना सिर्फ हथियार खरीद कर ले जाता था बल्कि माओवादियों तक पहुंचाने व हथियारों का ऑर्डर लेने में उसका अहम योगदान रहा है।मुरलीधर ने बताया कि अजय पंडित के निर्देश पर वह कई बार कोलकाता आ चुका है और यहां से एसएलार, इंसास और कार्बाइन जैसे बड़े हथियार लेकर माओवादियों तक पहुंचा चुका है। उसे रिमांड पर लेकर कोलकाता पुलिस की टीम पूछताछ करने की तैयारी कर रही है। प्राथमिक जांच में यह भी पता चला है कि गणेश का कई आपराधिक रिकॉर्ड रहा है आज बिहार व झारखंड में उसके नाम कई मुकदमे दर्ज हैं।
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •