गमगीन आंखों में दिखती रही गुस्से की लहर

फिरोज/रमेश/ जाकिर

कोलकाता/हुगली/हावड़ा। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों द्वारा किए गए हमले में सीआरपीएफ जवानों की शहादत के बाद पूरे देश का गुस्सा उफान पर है और गम का माहौल है। महानगर कोलकाता सहित हावड़ा हुगली ही नहीं बरन राज्य़ भर में आज लोगों ने जगह जगह शहीदों को श्रद्धांजलि दिया। आज भी आम लोगों द्वारा भी शहीद जवानों के बलिदान को सलाम करते हुए अलग-अलग तरीकों से उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देने का क्रम जारी रहा। आज देर शाम को कोलकाता पोर्ट सेंट्रल मंडल भाजपा की अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष मो. सलीम खान के नेतृत्व में शहीद जवानों की याद में एक कैंडल मार्च निकाला। इस दौरान प्रदेश भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र कश्यप ने मीडिया कर्मियों के साथ बातचीत में कहा कि भारत शहीद परिवार ही नहीं बरन देश के लोगों के आंसूओं की हर बूंद को बदला लेगा। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों द्वारा किए गए हमले में सीआरपीएफ जवानों की शहादत को हम कभी नहीं भुलेगे। इस हमले के पीछे आतंकवादी संगठन को इस अमानवीय कृत्य के लिए बूरा भुगतना होगा। आतंक के प्यादों ने साबित कर दिया है कि वह कायर व नापुसंक है।यह हमला देश का रक्षकों पर हमला नहीं बरन यहा हमारे स्वाभिमान व आत्मा पर हमला है और इसका जवाब जरुर लेगे। हम सभी भारतीय हमारे जवानों शहीदों के शोकाकुल परिवार के साथ हैं। इस दौरान वरीय भाजपा नेता महेश राम ने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी पर पुरा भरोसा है और पाक के नापाक हरकतों का जवाब इतना करारा होगा कि दुनिया याद रकेगी।श्रद्धांजलि जुलूस में कमलेश बाल्मिकी, रमन मिश्रा, चंदन साहा, अरुण दास, मो. सलीम, ज़ॉन राय, भवतारण पाण्डेय, देवराज यादव, उपेन्द्र राय,कलीमुद्दिन सम्शी, व भवनेश सिंह आदि मौजूद ने हमले पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। वहीं दक्षिण कोलकाता के एक्साइड मोड़ से भीर संख्या में लोगों ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिये कैंडल मार्च निकाला। जानकारी देते हुए ओम प्रकाश ने बताया कि उक्त मार्च में सैकत बक्शी प्रमिता सिंह राय, ओपी गुप्ता, राजेश सिंह, मुकेश सिंह, मनोज गुप्ता सुशील सिंह,रुमा दत्ता, समीर नाथ अदि ने भाग लिया। उक्त लोगों ने पाक के नापाक कार्य की कड़ी निंदा की। जबकि हावड़ा के कई जगहों पर आमलोगों ने पाक मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए कहा कि देश को शहीदों के खून का हिसाब चाहिए। वहीं हुगली जिले के बण्डेल स्थित नन्हें बच्चोंव कुछ युवाओं ने शहीदों को जहां श्रद्धांजलि अर्पित किया वहीं मासूम बच्चे हाङों में मोमबत्ती लेकर कई किलों मीटर तक पैदल चले।

Spread the love
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares
  •  
    11
    Shares
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •