लंदन में लगी दुर्गा पूजा की झांकियां

कोलकाता। देश की बात छोड़ दें तो अब सात समन्दर पार भी दुर्गा पूजा की धूम होगी। राज्य सरकार के प्रयासों के द्वारा वहां के लेग भी माता दुर्गा की महिमा व उत्सव के बारे में जान सकेगें। दुर्गा पूजा राज्य की सांस्कृतिक पहचान बन चुकी है। पूरे विश्व के लाखों लोग पूजा के समय राजधानी कोलकाता में पहुंच जाते हैं ताकि यहां बनने वाले एक से एक पंडालों, मूर्तियों, थीम, लाइटिंग आदि का दर्शन कर सकें। अब इसकी बानगी विदेशों में भी दिखने लगी है। राज्य सरकार के पर्यटन विभाग और ब्रिटिश काउंसिल के बीच हुए समझौते के तहत लंदन की टेम्स नदी के पास मनाए जा रहे हैं। टोटली टेम्स फेस्टिवल 2018 में पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा से जुड़ी चित्रकारी विशेष तौर पर प्रदर्शित की गई है। फेस्टिवल 30 सितम्बर तक चलेगा और प्रत्येक दिन पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा से संबंधित नई-नई चित्रकारी प्रदर्शित की जाएगी। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राज्य के युवा कल्याण मंत्री अरूप विश्वास और गृह सचिव अत्री भट्टाचार्य लंदन में ही मौजूद हैं । राज्य पर्यटन विभाग की ओर से बताया गया है कि टेम्स नदी के किनारे प्रतिवर्ष टेम्स उत्सव मनाया जाता है जो करीब एक महीने तक चलता है। इस बार स्वतंत्रा दिवस के मौके पर भारत और ब्रिटेन के बीच इस बात की सहमति बनी थी कि इस उत्सव में पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा से संबंधित झांकियां प्रस्तुत की जाएंगी। वहां लगाई जाने वाली प्रदर्शनी बेहद चुनिंदा है। राज्य के विभिन्न हिस्से में बनने वाले अति विशिष्ट पंडालों और मूर्तियों समेत थीम आदि की विरल तस्वीरें प्रदर्शित की गई हैं ताकि अधिक से अधिक पर्यटक आकर्षित हो सकें। दरअसल पश्चिम बंगाल सरकार का पर्यटन विभाग जोर-शोर से पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा को प्रचारित और प्रसारित करने की कोशिश कर रहा है ताकि अधिक से अधिक पर्यटक बंगाल में आ सकें। इसकी एक और पहल की गई है। कोलकाता के जितने भी रेस्तरां है और जितने भी देशों के दूतावास कोलकाता में मौजूद हैं वहां राजधानी की विशेष पूजा कमेटियों का पास दे दिया गया है। जो भो हो लेकिन इसे बंगाल सरकार का एक अच्छा प्रयास तो कहा ही जा सकता है।

Spread the love
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share
  •  
    1
    Share
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •