गुरु प्रशांत सिखाएगें पांच लाख युवाओं को राजनीतिक गुण

कोलकाता। कहते है कि हर चीज का अपना समय होता है। राजनीति में इन दिनों गुरु पीके यानी प्रशांत किशोर का नाम चमक रहा है। कई नेताओं को अपने राजनीतिक रण कौशल से राजनीति में कब क्या करे के गुण बताने वाले गुरु पीके अब बंग भूमि में राजनीति के गुण कौशल बताएगें। जी हां, अब बंगाल में भी पीके का नाम खबरों में है। साल 2021 के विधानसभा चुनाव में राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस को जीत दिलाने के लिहाज से राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने विशेष योजना बनाई है। उन्होंने पांच लाख युवाओं को राजनीतिक गतिविधियों को समझने और अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने का गुण सिखाने का निर्णय लिया है। इसके लिए सत्तारूढ़ तृणमूल से जुड़े युवाओं को प्रशिक्षित करने की योजना के तहत वह काम कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई है।किशोर ने इस अभियान को “यूथ इन पॉलिटिक्स” नाम दिया है। इसके लिए उनकी टीम एक सूची तैयार कर रही है जिसमें इन युवाओं को पंजीकृत किया जाएगा। सितंबर महीने तक यह सूची तैयार कर ली जाएगी। उसके बाद विधानसभा चुनाव से पहले 15 महीने तक प्रशांत किशोर इन युवाओं को प्रशिक्षण देंगे। हालांकि इसमें केवल तृणमूल से जुड़े हुए युवा ही शामिल हो सकते हैं ऐसी कोई बाध्यता नहीं है। किसी भी पार्टी से जुड़े लोग अथवा गैर राजनीतिक मंच के युवा भी प्रशांत किशोर के साथ जुड़ सकते हैं। उनकी टीम का कहना है कि भारत में साफ-सुथरी राजनीति और राष्ट्र के विकास के लिहाज से काम करने की रीति विकसित करने के लिए उन्होंने यह पहल की है। फिलहाल वह तृणमूल कांग्रेस के राजनीतिक रणनीतिकार के तौर पर नियुक्त किए गए हैं, इसलिए इसका सबसे अधिक लाभ तृणमूल को ही होगा। बता दे कि प्रशांत किशोर ने सीएम ममता बनर्जी को कई सलाह दी है और ममता बनर्जी उनके सलाह पर अमल भी कर रही जिसका फायदा भी सीएम को मिल रहा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •