पुण्य स्नान आज से शुरु
संगीनों के साये में सागरद्वीप
मंत्रियों का दावा हर व्यवस्था बेहतर
विभिन्न अपराधिक मामलों में 17 गिरफ्तार

सागरद्वीप से जगदीश यादव/फिरोज/रमेश/जाकिर अली

सागरद्वीप। जैसे – जैसे समय का चक्का घुमता रहा गंगा व सागर के संगम स्थली गंगा सागर में जनआस्था का सैलाब सागर तट पर उमड़ता रहा। रात हो या दिन संगम में स्नान के लिये पुण्यार्थी उतावले देखें। पंचायत मामलों के मंत्री सुब्रत मुखर्जी की माने तो खबर के लिखे जाने तक लगभग 12 लाख लोगों ने संगम में मोक्ष की कामनाके तहत पावन भूमि गंगासागर पहुंच चुके है। उक्त पुण्यार्थियों में इस राज्य से कम देश के विभिन्न भागों से आये तीर्थयात्री ज्यादा हैं। आज भी लाखों तीर्थयात्रियों ने भगवानसूर्य की पूजा-अर्चना कर सुख-समृद्धि की कामना कर सागरद्वीप में ही दान-पुण्य किया।इधर अपुष्ट खबरों में एक महिला तीर्थयात्री को मौत की भी खबर है जबकि काफी संख्या में लोग मौसम जनित कारणों से अस्वस्थ्य भी हुए हैं। मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने बताया कीअभी तक सागर मेले में किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। सुब्रत मुखर्जी ने कहा कि संगम में मुख्य पुन्य स्नान 14 जनवरी से शुरु होेगा और आशा है कि संगम में डुबकीलगाने वालों की संख्या बढ़कर कम से कम 30 लाख होगी। पंचायत मंत्री ने कहा कि आस्था ठण्ड पर भारी पड़ी है। अभी तक अरुप बिश्वास,गियासुद्दीन मोल्ला व पूर्व मंत्री मनिष गुप्ता सहित आधे दर्जन मंत्री यहां तैनात हों चुके हैं। मंत्री ने बताया कि सफाई कर्मीसे लेकर व्यापक स्तर पर पुलिस कर्मी तैनात हैं और अपनी सेवा प्रदान कर रहें है। एसपी (सुंदरवन पुलिस जिला) ताथागत बसु ने बताया कि इस दौरान चोरी, पाकेटमारी सह अन्य अपराधिक मामलों में कुल 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। लेकिन स्थानीय सूत्रों की माने तो व्यापक संख्या में लोग चोरी, पाकेटमारी सह अन्य अपराधिक मामलों में गिरफ्तार किया गये हैं। लेकिन एसपी द्वारा उक्त बात की पुष्टीनहीं कीगयीहै। जिले के डीएम वाई. रत्नाकर राव ने एक बार फिर स्वचछता व पुख्ता व्यवस्था की बात कहते नहीं थके।उन्होंने एक बार फिरसाफ सफाइ को दुरुस्त करार देते हुए व्यवस्था को पुख्ता बताया। आज सुबह से ही तेजी के साथ सागरद्वीप में पुण्यार्थियों का रेला समय के साथ ही बढ़ता देखा गया व यहां रात गहराने के साथ ही सागर तट पर भीड़ बढ़ती चली गई। प्रशासन के मुताबिक 12 लाख से ज्यादा तीर्थयात्रियों ने सागर में आ चुके हैं।वहीं कुछ एनजीओ व स्थानीय लोगोंका कहना है कि इस बार काफी कम लोग सागर में आये हैं।इधर सागरद्वीप में संगम में स्नान के बाद तीर्थयात्री कपिल मुनि के मंदिर की ओर कतारों में बढ़ते रहें व कपिलमुनि का दर्शन कर अपने को धन्य समझा। आंखों देखा हाल तो यह रहा कि यहां मंदिर परिसर में बैरिकेड में खड़े कई ऐसे पण्यार्थी थें जो संगम स्नान व कपिल दर्शन के बादअपनी खुशी व भवनाओं को रोक नहीं सके। देवी पुराण के अनुसार संक्रांति से 15 घटी पहले और बादतक का समय पुण्यकाल होता है। ज्योतिष के अनुसार सूर्य साल 14 जनवरी 8:08 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे, जो 15 जनवरी दोपहर 12 बजे तक तक मकर राशि में रहेंगे। इसलिए 15 जनवरी को दोपहर 12 बजे से पूर्व ही स्नान-दान का शुभ मुहूर्त है। मकर संक्रांति पर स्नान और दान का विशेष योग 15 जनवरी को बन रहा है। मकर संक्रांति का स्नान दोनों दिन यानी 14 और 15 जनवरी को होगा। प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं ताकि श्रद्धालुओं कोकिसी भी प्रकार की असुविधा ना हो। इसे देखते हुए जगह-जगह पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। वहीं सीसीटीवी कैमरों व ड्रोन व हेलिकप्टर से भी भीड़ पर नजर रखीजा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •