jagdish yadav

जगदीश यादव

कोलकाता। उन्नीस तारीख यानी आज पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के मतो की गिनती होगी। ईबीएम से निकले परिणाम से ही राज्य की दशा व दिशा के बारे में साफ संकेत मिलेगा। वैसे मतगणना परिणाम खासतौर से कहें तो देश दुनिया में अग्नि कन्या के तौर पर जानेजाने वाली  राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिये किसी भी माने में किसी ‘अग्निपरीक्षा’ से कम नहीं है । यही बात है कि सबकी नजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भविष्य पर टिकी गयी है। सत्ता के इस जंग का परिणाम ही तय करेगा कि ममता को जनता की ‘ममता’ मिलती है या फिर ‘दुत्कार’ । उनकी पार्टी तृणमूल धारासायी होती है या चैम्पियन, यह तो कुछ ही घंटे में पता चल जाएगा।    ममता बनर्जी के लिये यह चुनाव किसी चुनौती से कम नही रही । कारण जहां राजनीतिक मोर्चे पर उन्हें वाममोर्चा और कांग्रेस के बीच गठबंधन से लड़ना पड़ा है वहीं सारधा, नारदा व फ्लाइओवर हादसा उनके खिलाफ किसी चुनौती से कम नही  है। पांच साल पहले वह देश भर में कभी ‘पोरिबर्तन’ की बयार के तौर पर भी ख्यात हुई थीं। लेकिन अब माहौल कुछ अलग ही है। पश्चिम बंगाल विधानसभा का चुनाव छह चरणों में सम्पन्न हुआ है और अब इस बात पर निगाहे टिक गई हैं कि इस चुनाव में जीत आखिर किसकी होगी। कांग्रेस और वाम दलों में तालमेल होने के बाद तृणमूल के समक्ष एक मजबूत गठबंधन की चुनौती है। तो चुनाव इस मायने में ख़ास है कि भारतीय जनता पार्टी ने भी चुनावी मैदान में काफी मेहनत किया है ।

बता दें कि वाममोर्चा 200 सीटों पर व कांग्रेस करीब 80 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। जबकि चुनाव में पहली बार ऐसे 9776 मतदाताओं को अपने मताधिकार के प्रयोग का हक मिला जो भारत और बांग्लादेश के बीच क्षेत्र की अदला बदली के बाद भारत के नागरिक बने। उक्त लोग राजनीतिक एंगल से खास माने जा रहें हैं।  सब जानते हैं कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पार्टी के चुनाव प्रचार के लिये रात-दिन एक कर दिया था। तो कांग्रेस की ओर से स्थानीय नेताओं के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने और वाममोर्चा से बुद्धदेव दासगुप्ता, विमान बोस, सीताराम येचुरी समेत कई दिग्गजों ने प्रचार किया। जबकि भाजपा की ओर से खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने प्रचार किया। खैर निगाह इस पर है कि ममता बनर्जी अग्नि परीक्षा में पास होंती है या फेल?

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •